Uttarakhand and National-Current Affairs Hindi News Portal

आखिर क्यों हटा कर्नाटक के स्कूलों से भगत सिंह का पाठ केंजरीवाल ने उठाया बड़ा सवाल

कर्नाटक। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कर्नाटक में स्कूल की एक किताब से भगत सिंह पर आधारित एक पाठ को हटाने को लेकर दक्षिणी राज्य की भाजपा नीत सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि यह कदम महान स्वतंत्रता सेनानी की शहादत का अपमान है और कर्नाटक सरकार को यह निर्णय वापस लेना चाहिए।

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल ने ट्वीट किया कि देश अपने शहीदों का इस तरह से अपमान बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने भाजपा से सवाल किया कि ‘उसके लोग’ भगत सिंह से इतनी नफरत क्यों करते हैं?

ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स ऑर्गनाइजेशन (एआईडीएसओ) और ऑल इंडिया सेव एजुकेश कमेटी (एआईएसईसी) समेत कुछ संगठनों ने दावा किया है कि कर्नाटक सरकार ने भगत सिंह पर आधारित एक पाठ को स्कूली किताब से हटा दिया है तथा दसवीं कक्षा की संशोधित कन्नड़ पाठ्यपुस्तक में आरएसएस के संस्थापक केशव बलिराम हेडगेवार का भाषण शामिल किया है।

केजरीवाल ने कहा, “भाजपा के लोग अमर शहीद सरदार भगत सिंह जी से इतनी नफरत क्यों करते हैं? स्कूल की किताबों से सरदार भगत सिंह जी का नाम हटाना अमर शहीद की कुर्बानी का अपमान है।” उन्होंने कहा, “देश अपने शहीदों का ऐसा अपमान बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेगा। भाजपा सरकार को यह फैसला वापस लेना होगा।” ‘आप’ ने कन्नड़ पाठ्यपुस्तक से भगत सिंह पर आधारित पाठ को हटाने के फैसले को ‘शर्मनाक’ बताया। पार्टी ने कर्नाटक सरकार इस पाठ को स्कूली किताब में दोबारा शामिल करने की मांग की।

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.